आलोक नाथ
Bollywood
Typography

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive
 

बॉलीवुड और टीवी एक्टर आलोक नाथ (Alok Nath) के खिलाफ यौन उत्पीड़न के आरोप लगने का सिलसिला थम ही नहीं रहा है. 

बॉलीवुड और टीवी एक्टर आलोक नाथ (Alok Nath) के खिलाफ यौन उत्पीड़न के आरोप लगने का सिलसिला थम ही नहीं रहा है. 

पहले राइटर-प्रोड्यूसर विनता नंदा (Vinta Nanda) ने उन पर रेप के आरोप लगाए. फिर टीवी एक्ट्रेस संध्या मृदुल (Sandhya Mridul) ने बदसलूकी के आरोप लगाए और अब 'हम साथ साथ हैं' की क्रू मेंबर ने अपने साथ दुर्व्यवहार की जानकारी दी है. मिड-डे की रिपोर्ट के मुताबिक एक लड़की ने अपनी पहचान गुप्त रखते हुए आलोक नाथ (Alok Nath) पर बदसलूकी के आरोप लगाए हैं. ये घटना 1998 की बताई गई है और उन्होंने इसका पूरा बयोरा दिया है.  #MeToo का असर भारतीय एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री पर पूरी तरह नजर आने लगा है.

इस महिला ने बताया है कि 1998 में 'हस साथ साथ हैं' की शूटिंग के दौरान वे क्रू मेंबर थीं और आलोक नाथ (Alok Nath) ने उनके सामने सारे कपड़े उतार दिए थे. वे फिल्म में 'संस्कारी बापूजी' का किरदार निभा रहे थे. उन्होंने बताया है, "हम लोग नाइट सीन शूट कर रहे थे और उन्हें कॉस्ट्यूम चेंज करना था. मैंने उन्हें कपड़े थमाए तो वे मेरे सामने ही पहने हुए कपड़े उतारने लगे. मैं हैरान रह गई और मैं जल्द से जल्द उस कमरे से बाहर निकल जाना चाहती थी. मैंने बाहर भागने की कोशिश की तो उसने मेरा हाथ पकड़ा लिया और जोर-जबरदस्ती करने लगा. मैंने उसका हाथ झटका और कमरे से बाहर निकल गई."
 
आलोक नाथ (Alok Nath) पर आरोप लगाते हुए इस महिला ने बताया कि मैंने इस घटना की जानकारी डायरेक्टर-प्रोड्यूसर सूरज बड़जात्या को देने का फैसला लिया क्योंकि 'वे बड़जात्या परिवार के बहुत करीबी थे और सूरज सर इस घटना को बुरी तरह लेते.' ये महिला अब फिल्म इंडस्ट्री से जुड़ी नहीं हैं और वे अपने परिवार को सदमा नहीं देना चाहती इसलिए उन्होंने अपना पहचान को गुप्त रखा है. वैसे भी विनता नंदा और संध्या मृदुल