वाराणसी में निर्माणाधीन पुल गिरने से बड़ा हादसा
National
Typography

वाराणसी में निर्माणाधीन पुल गिरने से हुआ बड़ा हादसा जिसमें 12 से ज्यादा लोगों की मौत, 30 से ज्यादा लोगों के दबे होने की आशंका। इस हादसे के बाद से राहत और बचाव कार्यजारी है। वाराणसी हादसे पर राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हादसे पर शोक जताया।

वाराणसी में निर्माणाधीन पुल गिरने से हुआ बड़ा हादसा जिसमें 12 से ज्यादा लोगों की मौत, 30 से ज्यादा लोगों के दबे होने की आशंका। इस हादसे के बाद से राहत और बचाव कार्यजारी है। वाराणसी हादसे पर राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हादसे पर शोक जताया।

शाम  वाराणसी  मे एक भीषण त्रासदी मे 12 लोगों की मौत हो गयी है। घटना शहर के कैंट इलाके में एक निर्माणाधीन फ्लाईओवर के बड़े हिस्से के ढहने से हुई है।  पुल की शटरिंग के लिए बने फ्लाईओवर के नीचे रोडवेज बस व जीप समेत कई दोपहिया वाहन दब गये । एक दर्जन से अधिक घायलों को मंडलीय अस्पताल एवं बीएचयू के ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया है। राहत कार्य के लिए सेना के जवान व एनडीआरएफ की टीम लगी है। मलबे में फंसे लोगो को निकालने का काम जारी है। राहत और बचाव कार्य के लिये एनडीआरएफ की 6 टीमों को भेजा गया है।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने मृतकों के परिजनों को 5 लाख रुपये और घायलों को दो लाख रुपये सहायता राशि देने का एलान किया है।

उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह के अलावा राज्यमंत्री डा. नीलकंठ तिवारी को तत्काल मौके पर भेजा गया है। घटना पर प्रधानमंत्री ने दुख व्यक्त करते हुए ट्वीट किया-  "वाराणसी में एक निर्माणाधीन फ्लाईओवर के गिरने से हुई जीवन की हानि से बेहद दुखी हूं। मैं घायलों के जल्द ठीक होने की प्रार्थना करता हूं। अधिकारियों से बात की है और उन्हें प्रभावितों को हर संभव सहायता पहुंचाने को कहा है।''

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी घटना पर गहरा दुख जताया है। राष्ट्रपति ने अपने ट्वीट मे कहा- "वाराणसी में फ्लाईओवर निर्माण के स्थल पर हुई दुर्घटना के बारे में जानकर आघात पहुंचा है। प्रशासन द्वारा  बचाव कार्य और घायलों की सहायता के सभी प्रयास किये जा रहे है। शोकाकुल परिवारों के प्रति मेरी शोकसंवेदनाएं"