अरुण जेटली
National
Typography

वित्त मंत्री और भाजपा नेता अरुण जेटली ने रविवार को राज्य सभा के सदस्य के रूप में शपथ ली. राज्य सभा के सभापति एम वेंकैया नायडू ने उन्हें पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई. इस अवसर पर भाजपा के कई केंद्रीय मंत्री और सांसद मौजूद रहे.

वित्त मंत्री और भाजपा नेता अरुण जेटली ने रविवार को राज्य सभा के सदस्य के रूप में शपथ ली. राज्य सभा के सभापति एम वेंकैया नायडू ने उन्हें पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई. इस अवसर पर भाजपा के कई केंद्रीय मंत्री और सांसद मौजूद रहे.

अरुण जेटली ने चौथी बार राज्य सभा सदस्य के रूप में शपथ ली है. इससे पहले वे तीन बार गुजरात से राज्य सभा सांसद चुने गए लेकिन इस बार पार्टी ने उन्हें उत्तर प्रदेश से उम्मीदवार बनाया और वे विजयी हुए. गौरतलब है कि इस बार राज्य सभा चुनाव में उत्तर प्रदेश से पार्टी ने 10 में से 9 सीटें जीत कर अभूतपूर्व सफलता हासिल की है.

जहां तक अरुण जेटली के राजनीतिक सफर की बात करें तो उनका लंबा राजनितिक करियर रहा है. पहली बार वे अप्रैल 2000 में राज्य सभा के सदस्य निर्वाचित हुए और अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में मंत्री बने. उसके बाद वे फिर अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में कानून मंत्री बने.

लगातार पार्टी और संसद में कार्य करने के बाद उन्हें 2009 में राज्य सभा में नेता विपक्ष बनाया गया. 2014 में भाजपा के केंद्र में सत्ता में आने के बाद वे राज्य सभा में नेता सदन बने. उन्हें प्रधानमंत्री ने वित्त मंत्रालय की जिम्मेदारी सौंपी. तब से अब तक वे देश के वित्त मंत्री हैं. उनके वित्त मंत्री रहते हुए वित्त मंत्रालय में कई महत्वपूर्ण निर्णय हुए. भाजपा की कई अहम कमेटियों में अभी भी वे सदस्य हैं.